हिसार में टिड्डी दल ने दी दस्‍तक, डिप्टी स्पीकर ने किया विभिन्न गांवों का दौरा

सिटी फर्स्ट न्यूज़, हिसार:

राजस्थान की सीमा से सटे जिला के कुछ गांवों में टिड्डी दल के आने की सूचनाओं को लेकर डिप्टी स्पीकर रणबीर सिंह गंगवा ने  मंगलवार को क्षेत्र के कई गांवों का दौरा किया और किसानों से बातचीत कर सारी स्थिति की जानकारी ली। उन्होंने बासड़ा, गोरछी, चौधरीवास आदि गांवों का दौरा कर वहां आई टिड्डी की स्थिति को बारीकी से देखा एवं किसानों के खेतों पर जाकर उनकी फसलों का जायजा लिया। उन्होंने कृषि एवं किसान कल्याण विभाग के उप निदेशक विनोद फोगाट से बात की और टिड्डी नियंत्रण दल के अधिकारियों को निर्देश दिए कि वे जहां पर रात में टिड्डी दल का पड़ाव होता है उस स्थिति पर पूरी तरह नजर रखते हुए स्तिथि पर नियंत्रण करें।डिप्टी स्पीकर ने इस अवसर पर हरियाणा कृषि विश्वविद्यालय के वैज्ञानिकों से भी बात की और उन्हें टिड्डी समस्या का समाधान निकालने  की दिशा में ठोस प्रयास करने के निर्देश दिए। उन्होंने किसानों को विश्वास दिलाया कि उनकी फसलों  का कोई नुकसान नहीं होने दिया जाएगा। जिला में टिड्डी नियंत्रण को लेकर विभिन्न विभागों की टीमें पहले से ही गठित हैं जो सारी स्थिति पर नजर बनाए हुए हैं। उन्होंने कहा कि यदि टिड्डी से फसलों को नुकसान होता है तो कृषि एवं राजस्व विभाग की टीम द्वारा सर्वे शीघ्र करवाया जाएगा। उन्होंने किसानों से भी आग्रह किया है कि वे टिड्डी दल पड़ाव की सूचना तत्काल ही कृषि विभाग के अधिकारियों एवं टिड्डी नियंत्रण दल को दें। डिप्टी स्पीकर रणवीर गंगवा ने क्षेत्र के सभी किसानों से भी यह आह्वान किया कि वे अपने स्तर पर ढोल, ड्रम, थाली या अन्य किसी माध्यम से तेज आवाज उत्पन्न कर टिड्डी दल को फसलों पर पड़ाव डालने से रोक सकते हैं।कृषि अधिकारियों ने डिप्टी स्पीकर को अवगत करवाया कि टिड्डिïयों का यह दल एक गुणा एक किलोमीटर क्षेत्र के व्यास का है और यह राजस्थान के भारिया बोर्डर से हरियाणा के सरसाना व बासड़ा गांवों में आया है। उन्होंने बताया कि प्रशासन की टीमें और ग्राम स्तर पर गठित कमेटियां टिड्डïी दल की गतिविधियों पर नजर रखे हुए हैं और सायं के समय यह जहां भी अपना पड़ाव डालेगा, वहां कीटनाशक के छिडक़ाव से इसे खत्म करने का अभियान चलाया जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here