Home स्पोर्ट्स

स्पोर्ट्स

विश्व की 7 सबसे ऊंची चोटियों को फतेह करने निकले अंकुश ने किया एवरेस्ट फतेह, 4 चोटियां बाकी

सिटी फर्स्ट न्यूज़ , हांसी:

दुनिया का सातों महाद्वीपों की 7 सबसे ऊंची चोटियों को फतेह करने निकले लालपुरा के पर्वतारोही अंकुश कसाना ने दुुनिया की सबसे ऊंची चोटी माऊंट एवेरेस्ट को फतेह कर तीरंगा फहरा दिया है। यह अंकुश की तीसरी सफलता है, इससे पूर्व अंकुश कसाना यूरोप की एल्ब्रुस व दक्षिण अफ्रीका की कलिमंजारों चोटी का फतेह कर चुका है। अभी विश्व का चार सबसे उंची चोटियों को फतेह करना बाकि है। अंकुश ने मात्र डेढ़ महीने में एवरेस्ट की चोटी को फतेह कर लिया।

बता दें कि उपमंडल के गांव लालपुरा के अंकुश कसाना केयूके में एलएलबी के छात्र हैं और माउंटेनिंग का शौक है। विश्व के सातों चोटियों को फतेह करने के सपने के साथ वह घर से निकला है। बीते साल दिसंबर में अंकुश कसाना ने यूरोप की सबसे ऊंची चोटी एल्ब्रुस को फतेह किया था, जो 8 हजार 895 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है। इससे पूर्व अंकुश पिछले साल दक्षिण अफ्रीका की सबसे ऊंची 5 हजार 885 मीटर ऊंची चोटी कलिमंजारों को फतेह किया था। अंकुश ने अप्रैल के पहले हफ्ते में माउंट एवरेस्ट पर चढ़ाई शुरु की थी व पिछले हफ्ते माउंट एवरेस्ट पर तिरंगा फहरा दिया। इस सफलता के बाद काठमांडू पहुंचने के बाद अंकुश ने दैनिक जागरण से बातचीत व कहा कि जल्दी वह अगले लक्ष्य की तरफ बढ़ेंगे।

मिनी ओलम्पिक में श्रीधर ने जीता गोल्ड

सिटी फर्स्ट न्यूज़ ,हांसी:

रोहतक में आयोजित हुए मिनी ओलम्पिक गेम्स में स्थानीय वन रेंज आफिसर के पुत्र श्रीधर ने गोल्ड मेडल अपने नाम किया है। श्रीधर ने सिल्वर मेडल शॉटपुट खेल के 16 आयु वर्ग में खेलते हुए हासिल किया है। इस उपलब्धि पर उसके परिवार में खुशी की लहर है। शॉट पुट खिलाड़ी श्रीधर हिसार के एक निजी स्कूल में पढ़ाई करता है। उनके पिता पवन कुमार हांसी वन रेंज आफिसर के पद पर तैनात हैं। श्रीधर ने बताया कि उसका सपना शॉट पुट खेल में ही भविष्य बनाने का है और बचपन से ही अपने इस सपने को पूरा करने के लिये लगा हुआ हूँ।

तीरअंदाजी में किसान के बेटे ने जीता रजत पदक,उमरा के छोरे ने ओलिंपिक खेलों में पहली बार भारत को चांदी दिलाई

सिटी फर्स्ट न्यूज़ ,हांसी:
अर्जेंटिना में बेल्जियम में 4 से 18 सितम्बर तक आयोजित युथ ओलम्पिक गेम्स अर्जनटीना में उपमण्डल के गांव उमरा के आकाश मलिक ने तीरंदाजी मे भारतीय तीरंदाजी टीम का प्रतिनिधित्व करते हुए व्यक्तिगत स्पर्धा मे रजत पदक जीता। इससे पहले सीनियर या जूनियर किसी भी ओलिंपिक में भारत ने तीरंदाजी में रजत पदक नहीं जीता था। ओलिंपिक में तीरंदाजी में भारत का यह दूसरा पदक है। 2014 नानजिंग यूथ ओलिंपिक में अतुल वर्मा ने तीरंदाजी में कांस्य पदक जीता था। किसान के बेटे आकाश फाइनल में अमेरिका के ट्रेनटॉन कोल्स से 6-0 से हार गए। भारत के अब इस टूर्नामेंट में तीन स्वर्ण, नौ रजत और एक कांस्य पदक हो गए हैं।
यह जानकारी देते भारतीय टीम के कोच मनजीत सिंह मलिक ने बताया कि भारतीय खिलाड़ी आकाश ने बेल्जियम के खिलाड़ी को हरा कर रजत पदक जीता। उन्होने बताया कि आकाश मलिक युथ ओलम्पिक में रजत पदक जीतने वाला देश का पहला खिलाड़ी बन गया है। उन्होने बताया कि भारतीय तीरंदाजी टीम मे उमरा गांव क दो खिलाडिय़ों आकाश मलिक व हिमानी मलिक ने युथ ओलम्पिक गेम्स मे भाग लिया था ।

हिन्दू सीनियर सैकेण्डरी स्कूल की सोनिया ने 800 व 1500 मीटर रेस में जीता कांस्य पदक

सिटी फर्स्ट न्यूज़ ,हांसी: 
सीबीएसई के तत्वाधान में डाटा पब्लिक स्कूल डाटा में आयोजित 15वें कलस्टर एथलेटिक मीट में हरियाणा के 42 स्कूलों ने भाग लिया जिसमें हिन्दू सीनियर सैकेण्डरी स्कूल की सोनिया ने अंडर-17 आयु वर्ग में 800 मीटर व 1500 मीटर रेस में कांस्य पदक प्राप्त कर देवांगरी कनार्टक में नवम्बर माह में आयोजित होने वाली सीबीएसई राष्ट्रीय चैम्पिनशिप मीट में भाग लेने के लिए चयन किया गया। इसके अतिरिक्त दीपक ने आर्यन सीनियर सैकेण्डरी स्कूल चरखी दादरी में आयोजित 49 किलोग्राम बॉक्सिंग प्रतियोगिता में कांस्य पदक प्राप्त किया। दीपक को अब महेन्द्रगढ़ में आयोजित सीबीएसई राष्ट्रीय स्तर की प्रतियोगिता के लिए चयन किया गया है। इसके अतिरिक्त पवन पुत्र सुनील कुमार ने हिसार जिलास्तरीय अंडर-17 जूडो प्रतियोगिता में प्रथम स्थान हासिल किया। अब उनका चयन राज्यस्तरीय प्रतियोगिता के लिए किया गया। स्कूल पहुंचने पर तीनों खिलाडिय़ों का प्राचार्य अनिल कुमार ने भव्य स्वागत किया और उनके उज्जवल भविष्य की कामना की।

बचपन में हेंडबॉल में करियर बनाने का था सपना, एक दिन हॉकी प्लेयरों को खेलते देख ह़ॉकी खेलने का जागा जनून तो बन गयी अंतर्राष्ट्रीय हॉकी खिलाड़ीः उदिता

dav

एशियन गेम्स में सिल्वर विजेता टीम की सदस्य उदिता ने कहा खेलों में कामयाबी के लिये जीवन में अनुशासन अपरिहार्य

सिटी फर्स्ट न्यूज़ ,हांसीः 
एशियन गेम्स में सिल्वर मेडल विजेता हाकी टीम की सदस्य उदिता स्थानीय हिंदू सीनियर सेकेंडरी स्कूल में चल रही तीन दिवसीय राज्य स्तरीय सीबीएसई क्लस्टर खो-खो प्रतियोगिता में मुख्यअतिथि के रूप में पहुंची। उदिता ने कहा की उसका पहला प्यार बचपन में हेंडबाल था लेकिन एक दिन कोच नहीं आए और साथ वाले ग्राऊंट में बच्चों को हॉकी खेलते देखा तो उसी दिन से हॉकी खेलना शुरू कर दिया। जिसके बाद उन्होंने कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा और हॉकी को ही अपना प्यार बना लिया। हॉकी प्लेयर उदिता ने कहा कि स्पोर्टस के क्षेत्र में कामयाब होने के लिये जीवन में अनुशासन का होना बहुत जरूरी है।
अगर आप समय व डाइट को लेकर अनुशासित नहीं हैं तो किसी कीमत पर कामयाबी नहीं मिल सकती। उन्होंने बताया कि वह हर रोज छह घंटे प्रेक्टिस करती हैं। उन्होंने कहा कि अभिभावकों को अपने बच्चियों पर दबाव नहीं बनाना चाहिए व उन्हें उनकी रूचि के अनुसार ही आगे बढ़ने के अवसर प्रदान करने चाहिए। उन्होंने कहा कि मेहतन करके हर मुकाम हासिल किया जा सकता है व लड़कियों को रास्ते में आने वाली बाधाओं से नहीं डरना चाहिए और निरंतर आगे बढ़ना चाहिए।प्राचार्य सुनीता ने जानकारी देते हुए बताया की चार दिनों तक चलने वाली प्रतियोगिता में 125 सीबीएसई के स्कूल भाग ले रहे हैं और हर रोज कई रोमांचक मुकाबले देखने को मिल रहे हैं।

सिसाये में बनेगा अंतर्राष्ट्रीय स्तर का रेसलिंग हाल, पहलवानों को होगा फायदा

सिटी फर्स्ट न्यूज़ ,हांसीः

कुश्ती के खेल में हांसी का नाम अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर रोशन करने वाले सिसाये गांव के पहलवानों को सरकार ने सौगात दी है। गांव में खेल सुविधाएं बढ़ाते हुए अंतर्राष्ट्रीय स्तर का रेसलिंग हॉल बनाने के लिये करीब 14 लाख रुपये की राशी मंजूर कर दी है और पंचयाती राज विभाग ने रेसलिंग हाल के लिये टेंडर भी जारी कर दिया है। विभाग का दावा है कि तीन माह के अंदर इस गांव में रेसलिंग हाल बनके तैयार हो जाएगा। जिसके बाद गांव के पहलवानों को कई प्रकार की खेल सुविधाएं एक छत के नीचे मिलेंगी। यह रेसलिंग हाल अत्याधुनिक होगा व कई प्रकार की सुविधाएं पहलवानों को दी जाएगी।

आपको बता दें कि सिसाये गांव के पहलवानों द्वारा गांव में रेसलिंग हाल बनाने के लिये पिछले लंबे समय से मांग की जा रही थी। सालों बाद सरकार ने उनकी मांग पर ध्यान दिया है व गांव में 13 लाख 75 हजार की लागत से रेसलिंग हाल बनाने का निर्णय लिया है। गांव के खिलाड़ियों को इस हाल के बनने बाद फायदा होगा व उनकी प्रदर्शन में सुधार होगा जिससे खिलाड़ियों के अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर बेहतर प्रदर्शन करेंगे।

उमरा में दो दिवसीय जोनल स्कूल खेल प्रतियोगिता आयोजित

सिटी फर्स्ट न्यूज़ ,हांसी:

उमरा गांव स्थित राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय में दो दिवसीय जोनल स्कूल खेल प्रतियोगिता का आयोजन किया गया।  18 व 19 अगस्त को आयोजित खेल प्रतियोगिता स्कूल प्राचार्य दलबीर श्योराण की अध्यक्षता में आयोजित की गई। यह जानकारी देते हुए डीपीई सतीश दलाल ने बताया कि इस प्रतियोगिता में हांसी-प्रथम व द्वितिय व नारनौंद ब्लाक की अन्डर 14, 17 व 19 आयु वर्ग के लडक़ों की विभिन्न स्कूलों की 80 टीमों के 400 खिलाडिय़ोंं ने भाग लिया। जोनल स्कूल खेल प्रतियोगिता में फुटबाल, खो-खो, कबड्डी, हॉकी, वालीवॉल, बास्केटबाल, हैण्डबाल, बेसबाल, थ्रो बॉल, क्रोफ बाल तथा एथलेटिक्स खेलों का आयोजन किया गया। खो-खो, फुटबाल व कबड्डी में रोचक मुकाबले देखने को मिले। फुटबाल में अण्डर-14 आयु वर्ग के फाईनल मैच में राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय मसुदपुर की टीम ने राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय पाली की टीम को हराकर प्रथम स्थान प्राप्त किया। वहीं अण्डर-17 व 19 वर्ग में ओपीजेएम स्कूल हिसार की टीम ने प्रथम स्थान प्राप्त किया। खो-खो अण्डर 14 प्रतियोगिता में भी राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय मसुदपुर ने प्रथम स्थान प्राप्त किया। अण्डर-17 में राजकीय उच्च विद्यालय महजत ने प्रथम स्थान प्राप्त किया। कबड्डी में अण्डर-17 में सिंहराम मैमोरियल वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय उमरा ने प्रथम तथा अण्डर-19 में राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय सुलतानपुर ने प्रथम तथा अण्डर-14 आयु वर्ग में अल्टीयस पब्लिक स्कूल सिसाय ने प्रथम स्थान प्राप्त किया। हाकी में अण्डर-14 में न्यू मिडल स्कूल उमरा, अण्डर-17 में इण्डियन पब्लिक स्कूल सुलतानपुर तथा अण्डर-19 में राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय बास ने प्रथम स्थान प्राप्त किया।  इस अवसर पर डीपीई हरविन्द्र लोहान, राजेन्द्र जांगड़ा सचिव डीपीई जोगेन्द्र, प्रवक्ता प्रेम पुनिया, प्रवीणा सिहाग, देवेन्द्र डीपीई, सुनील खरब, सुशीला डीपीई, नीलम डीपीई, रमेश डीपीई, राजेश सोरखी डीपीई, व कोच सतपाल दलाल व राजबीर सिंह आदि ने खेल आयोजन में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई।

एशियन गेम्स में दमखम दिखायेगा हांसी का छोरा , मोनू गोयत है भारतीय कबड्डी टीम का हिस्सा

सिटी फर्स्ट न्यूज़ :
18 अगस्त से 2 सितंबर तक होने वाले एशियन गेम्स की भारतीय कबड्डी टीम में शामिल मोनू गोयत का परिवार मूल रूप से कुंगड़ भैणी से है। तथा वर्तमान में हांसी की जगदीश कॉलोनी में रहता है । मोनू गोयत भारतीय कबड्डी टीम के मुख्य रेडरो में से एक है मोनू प्रो कबड्डी लीग में अपने जलवे दिखा चुका है। 2016 में गोयत बंगाल वारियर्स व 2017 में पटना पायरेट्स की तरफ से खेल चुका है ।उसके बेहतरीन प्रदर्शन के कारण इस वर्ष अक्टूबर में शुरू होने वाली लीग में हरियाणा स्टीलर्स ने उसे 1.51 करोड़ में खरीदा है भारत अब तक 7 बार एशियाई खेलों की कबड्डी प्रतियोगिता में गोल्ड मैडल जीत चुका है। एकबार फिर से भारत को इसका प्रबल दावेदार माना जा रहा है हाल ही में दुबई में कबड्डी में जीतने से टीम के हौसले बुलन्दियों पर है ।

हांसी में राहगीरी कार्यक्रम का आयोजन 22 को

सिटी फर्स्ट न्यूज़ ,हांसी :
राहगीरी कार्यक्रम को आकर्षित बनाने व लोगों को ज्यादा संख्या में जोड़ने के लिए पुलिस द्वारा अब हरियाणवी गायकों का सहारा लिया जाएगा। 22 जुलाई को होने वाले राहगीरी कार्यक्रम में इस बार दो हरियाणवी गायक सोनम कैथलिक व नवीन नारु पहुँचेंगे और लोगों में समा बांधेंगे। राहगीरी का कार्यक्रम इस बार भी लाल सड़क पर होगा।
इसको लेकर रेस्ट हाऊस में पुलिस अधिकारियों ने राहगीरी कमेटी के सदस्यों के साथ बैठक की। मीटिंग में हाजिर सभी व्यक्तियों ने राहगिरी कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए पुलिस का सहयोग करने का आश्वासन दिया है। पुलिस प्रवक्ता सुरेश कुमार ने बताया कि हरियाणा सरकार के आदेश अनुसार राहगीरी कार्यक्रम का आयोजन किया जा रहा है। प्रत्येक महीना के दूसरे और चौथे रविवार को पुलिस जिला हांसी द्वारा सामाजिक संस्थाओं के सहयोग से राहगीरी कार्यक्रम का आयोजन किया जा रहा है। इस भाग दौड़ की जिंदगी में लोगों को खुशियों के क्षण महसूस कराने के लिए यह राहगीरी कार्यक्रम शुरू किया है। पुलिस अधिकारी एवं कर्मचारी मेहनत से काम करते हुए सामाजिक संस्थाएं एवं लोगों के साथ तालमेल कर रहे हैं। ताकि राहगीरी कार्यक्रम मैं ज्यादा से ज्यादा व्यक्ति पहुंचकर इन सुनहरी पलों का आनंद उठा सके और राहगीरी कार्यक्रम से पुलिस एवं लोगों के बीच आपसी मेलजोल विश्वास भी बढ़ेगा। उपपुलिस अधीक्षक नरेंद्र सिंह के नेतृत्व में शहर हांसी में लाल सड़क पर राजकीय कन्या स्कूल के पास राहगीरी कार्यक्रम का आयोजन किया जाएगा। राहगीरी कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए थाना शहर प्रबंधक उदयभान ने शहर के गणमान्य व्यक्तियों के साथ एक मीटिंग की। इस मीटिंग में मुख्य रुप से प्रवीण बंसल, धर्मवीर रतेरिया, विजय बंसल, पंजाबी युवा शक्ति के प्रधान तनुज खुराना, सुनील दुहन, अशोक कुमार, विपिन बाबा, प्यारे लाल सैनी, नरेंद्र भयाना, गौरव भारतीय, संजय कमांडो आदि मौजूद थे।

स्र्पोटस एकेडमी ने किया ओपन कराटे प्रतियोगिता का आयोजन

सिटी फर्स्ट न्यूज़ ,हांसी:
स्र्पोटस एकेडमी द्वारा शनिवार को गीता भवन में ओपन कराटे प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। प्रतियोगिता में प्रदेश के 12 जिलों के 300 से अधिक खिलाडिय़ों ने भाग लिया। प्रतियोगिता का शुभारम्भ जिला कराटे संघ हिसार के प्रधान डा. एसएस मान नेदीप प्रजल्लवित कर किया। यह जानकारी देते हुए संघ सचिव संजय ने बताया कि जिला प्रधान डा. मान ने प्रतियोगिता में भाग लेने वाले खिलाउिय़ों का प्रोत्साहित करते हुए कहा कि वे खेल को सदैव खेल की भावना से खेलें और खेेलते वक्त अपना पुरा ध्यान खेल व विरोधी खिलाड़ी पर रखे ताकी आप उसकी हर गतिविधी व दांव का अ‘छे से समझ सके। प्रतियोगिता में विजेता खिलाडिय़ों को प्रस्शति पत्र व स्मृति चिन्ह भेंट कर सम्मानित किया गया। इस अवसर पर डा.सुनील दत्त, डा. विजय यादव, कोच रोहित वर्मा, नरेश कादयान, नवीन, विनोद, कोच संजय वर्मा आकाश कौशिक सहित खिलाड़ी मौजूद थे।
error: Content is protected !!